मोहब्बत शायरी, हमें छोड़कर कहां जाओगे

  • Post author:
You are currently viewing मोहब्बत शायरी, हमें छोड़कर कहां जाओगे
याद आने पर मोहब्बत शायरी, बिन आपके मोहब्बत शायरी, प्यार करने के लिए शायरी अंदाज
मोहब्बत शायरी

हमें छोड़कर तुम कहां जाओगे
मौसम नहीं जो बदल जाओगे
रहते नही हो एक पल भी हमसे दूर
हमारे बिन तुम कैसे रह पाओगे..!!
Humein Chhodkar Tum Kaha Jaoge
Mausam Nhi Jo Badal Jaoge
Rahte Nhi Ho Ek Pal Humse Door
Hmare Bin Tum Kaise Rah Paoge..!!

इस प्यार की इन्तहा ना पूछिए
तुमसे मोहब्बत की वजह ना पूछिए
वैसे तो रहते हो हमेशा साथ मेरे
बस कहां रहते हो जगह ना पूछिए..!!
Is Pyar Ki Intha Naa Puchhiye
Tumse Mohobbat Ki Vajah Naa Puchhiye
Vaise To Rahte Ho Hamesha Sath Mere
Bas Kaha Rahte Ho Jagah Naa Puchhiye..!!

रास्ते कठिन नजर आते हैं तेरे बिना
कौन संभालेगा मुझे तेरे बिना
मुझे जीने का सलीका ना सीखा ऐ सनम
मुझे जीना नहीं आता तेरे बिना
Raste Kathin Nazar Aate Hai Tere Bina
Kon Sambhalega Mujhe Tere Bina
Mujhe Jeene Ka Salikha Na Sikha E Sanam
Mujhe Jeena Nhi Aata Tere Bina..

खुद को भुलाकर याद रहती हैं तू
दिल मे बसाकर साथ रहती हैं तू
कहती हैं कि मुझे भूल जाओ मगर
भूलने के बहाने से याद रहती हैं तू
Khud Ko Bhulakar Yaad Rahti Hai Tu
Dil Me Basakar Sath Rahti Hai Tu
Kahti Hai Ki Mujhe Bhool Jao Magar
Bhoolne Ke Bahane Se Yaad Rahti Hai Tu.

होंगे जब जुदा तो
मोहब्बत का भी बटवारा कर लेंगे
तमाम खुशियाँ तुम रख लेना
हम तो तुम्हारी यादों के साथ गुजारा कर लेंगे..!!
Honge Jab Judaa To
Mohobbat Ka Bhi Batwara Kar Lenge
Tamam Khushiya Tum Rakh Lena
Hum To Tumhari Yaado Ke Sath Guzara Kar Lenge

Related Shayari

Kya Khoob Zakham Diye Hai

Bin Tere Zindagi Meri

Khusnaseeb Wale Nhi The